Home / breaking news
उपायुक्त ने तुफानी चक्रवात फनी को देखते हुए दिए सभी विद्यालयों को बंद रखने के दिए निर्देश
Image

जमशेदपुर :उपायुक्त ने तुफानी चक्रवात फनी को देखते हुए दिए सभी विद्यालयों को बंद रखने के दिए निर्देश*

3 और 4 मई को बंद रहेंगे सभी सरकारी और निजी विद्यालय

3 मई, 12 बजे दोपहर से 5 मई, 8 बजे संध्या तक तुफानी चक्रवात फनी का असर रहने की* *जताई गई संभावना

*तुफानी चक्रवात फनी के दौरान लगभग 150 कि.मी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने एवं* *लगभग 12 से.मी बारिश होने की संभावना को देखते हुए पूरे जिले को हाई अलर्ट पर रख गया है*

*उपायुक्त ने लोगों से किया अपील- आवश्यक सामानों की व्यवस्था कर लें*

*तुफानी चक्रवात फनी को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा स्वर्णरेखा और खरकई नदी के तटीय क्षेत्र* *में रहने वालों को अलर्ट किया गया है। उन्हें सुरक्षित स्थानों पर चले जाने को कहा गया है*

*जिला प्रशासन द्वारा ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रा में अस्थाई शिविर बनाए गए हैं। उपायुक्त ने संबंधित* *पदाधिकारियों को सभी बुनियादी सुविधायें उपलब्ध कराने के दिए निर्देश*

*आपात स्थिति से निपटने हेतु जमशेदपुर पहुंची एन.डी.आर.एफ की 1 टीम*

*आपात स्थिति में सहायता के लिए दूरभाष संख्या 0657-2440111 पर तुरंत सूचित करें*
*——————————————–*
तुफानी चक्रवात फनी के असर का आकलन करते हुए मौसम विभाग द्वारा बंगाल, ओड़िशा, झारखण्ड, आन्ध्रप्रदेश, तमिलनाडु, छतीसगढ़, पुडुचेरी एवं असम राज्य में लोगों को अलर्ट रहने की चेतावनी जारी की गई है। पूर्वी सिंहभूम जिला में भी चक्रवाती तूफान के असर का आकलन किया गया है, इसी के मद्देनजर आज जिला दण्डाधिकारी सह उपायुक्त, पूर्वी सिंहभूम अमित कुमार की अध्यक्षता में जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की आपात बैठक समाहरणालय सभागार में की गई। सभी संबंधित पदाधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने हेतु निदेशित किया गया। तुफानी चक्रवात फनी को देखते हुए उपायुक्त द्वारा सभी निजी और सरकारी विद्यालयों को 3 मई एवं 4 मई को बंद रखने का निर्देश दिया गया। उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारियों को निदेशित करते हुए कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में स्कूल भवन एवं पंचायत भवन को चिन्हित कर अस्थायी शिविर बनाना सुनिश्चित करें जिसमें खाने-पीने जैसी बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराई जा सकेI तटीय इलाकों में बसे लोगों को तुफानी चक्रवात फनी के असर से अवगत कराते हेतु माइकिंग से जागरूक कराने का निर्देश उपायुक्त द्वारा संबंधित पदाधिकरियों को दिया गया। वहीं शहरी क्षेत्रों में नालों के उपर बनाए घरों के लोगों को भी सुरक्षित स्थानों पर भेजने हेतु निदेशित किया गया। तुफानी चक्रवात फनी के दौरान लगभग 150 कि.मी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने एवं लगभग 12 से.मी बारिश होने की संभावना जताई गई है। जिससे नालों में पानी भर जाने के कारण घरों में पानी घुसने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। उपायुक्त ने अस्थाई शिविरों में मेडिकल की एक टीम को तैनात रखने के साथ ही सूखा भोजन- चूड़ा, गुड़, चना, ब्रेड तथा पानी की व्यवस्था करने हेतु भी संबंधित पदाधिकारियों को निदेशित किया। रेड क्रॉस, सिविल डिफेन्स को अलर्ट पर रखा गया गया है। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एन.डी.आर.एफ की एक टीम को भी बुलाया गया है। उपायुक्त ने लोगों से अपील किया है कि तुफानी चक्रवात फनी को देखते हुए आवश्यक सावधानी बरतें एवं तमाम आवश्यक सामान अपने घर पर पहले से रख लेंI बिजली कटने की संभावना है अतः मोमबती व अन्य तमाम आवश्यक समानों की व्यवस्था कर लें। उपायुक्त ने लोगों से अपील किया कि वे तुफानी चक्रवात फनी के प्रभाव में आने से पहले सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं एवं अनावश्यक रूप से घरों से बाहर नहीं निकलें। उपायुक्त ने कहा कि तुफानी चक्रवात फनी को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

 

Latest Post