Home / साहित्य
ये मान कर लिखो कि शब्द-धर्म रहे ज़िंदा

ये मान कर लिखो कि शब्द-धर्म रहे ज़िंदा डॉ कल्याणी कबीर  अगर प्रेम में डूब कर लिखना है तो मत लिखो, अगर गम से ऊबकर लिखना है तो मत लिखो, मत लिखो इसलिए कि वाहव...

जिले में तंबाकू बेचने वालों को नगर निकाय से लेना होगा लाईसेंस।

जिले में तंबाकू बेचने वालों को नगर निकाय से लेना होगा लाईसेंस तंबाकू बेचने वालों को तंबाकू निषेद्य से संबंधित पोस्टर लगाना होगा अनिवार्य सार्वजनिक स्...

तिरंगे की कहानी याद रखना

याद रखना डॉक्टर कल्याणी कबीर तिरंगे की कहानी याद रखना , उन वीरों की कुर्बानी याद रखना ! जवाँ बेटे को खो बैठी है जो माँ , उन आँखों में है पानी याद रखना ! ह...

टुकड़े को टुकड़ा करता सरौता मिला !

टुकड़े को टुकड़ा करता सरौता मिला ! ऊलझने इस कदर बस ऊलझती गईं ! सोंचने का तनिक भी न मौका मिला !! पाने की कुछ भी चाहत बची ही नहीं ! खुद वसीयत ड़ूबोता जो नौका मिला !! ...

दिल्ली में भारतीय तिरंगा गौरव अवार्ड से सम्मानित हुई जमशेदपुर की युवा कवयित्री अंकिता

दिल्ली में भारतीय तिरंगा गौरव अवार्ड से सम्मानित हुई जमशेदपुर की युवा कवयित्री अंकिता संवाददाता जमशेदपुर। साउथ दिल्ली स्थित लाजपत ऑडोटोरियम में स्व...

अधूरे सनसनीखेज के किस्से

अधूरे सनसनीखेज के किस्से और अधूरे ख्वाब आँखों में पलते हैं पगडंडियों की संकिर्ण गलियों आदिवासी मूल की व्यथा गुमनाम से घूमते हैं जीवन का पदचाप मौनव्रत ...

स्मृतिशेष सुषमा स्वराज है हमारी शान

स्मृतिशेष सुषमा स्वराज है हमारी शान भारत की लाडली बेटी, संसद की थी शान राजनीति के रम्य क्षितिज पर, एक अलग पहचान प्रखर प्रवक्ता कुशल प्रशासक, मृदुभाषी ...

आदिवासियों पर न संकट था और न रहेगा:रघुवर दास, मुख्यमंत्री 

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास प्रभात प्रकाशन के चार पुस्तकों के लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल हुए मुख्यमंत्री ने प्रभात खबर के कार्यकारी संपादक श्री अनु...

कब दी जाएगी शिक्षा पर जोर……!

निजाम खान कब दी जाएगी शिक्षा पर जोर! ध्यान दीजिए शिक्षा की ओर!! विकास की रफ्तार बड़ा सकती है शिक्षा! शिक्षा पर जोर दी जाए यही हम सबकी है इच्छा!! बच्चे जात...

दादा जी की आदत

निजाम खान आज भी खलती है दादाजी की याद. पर वह भले ही हमारे बीच ना हो लेकिन दादाजी की कुछ आदतों का पालन हमसे हो ही जाता है. सप्ताह में 1 दिन पर्व मनाते हैं.वह दि...

दादा जी की आदत

निजाम खान आज भी खलती है दादाजी की याद. पर वह भले ही हमारे बीच ना हो लेकिन दादाजी की कुछ आदतों का पालन हमसे हो ही जाता है. सप्ताह में 1 दिन पर्व मनाते हैं.वह दि...

इश्क के नाम में कुछ नहीं रखा

  इश्क के नाम में कुछ नहीं रखा डॉ कल्याणी कबीर खिड़कियों ने कहा दीवारों से, खाली मकान में कुछ नहीं रक्खा ! चलो कि धूप में तपकर निखरें , सुरमई शाम में क...

वर्षा आया-वर्षा आया!

*वर्षा आया-वर्षा आया!* निजाम खान वर्षा आया-वर्षा आया! किसान के चेहर पे मुस्कान आया!! मेंढक आवाज़ देते है! किसानों में वारीष की उम्मीद जगते है!! रात में हु...

सत्ता का व्यवहार वही है:श्यामल सुमन

सत्ता का व्यवहार वही है ******************* साज वही, श्रृंगार वही है दुखियों का संसार वही है युग बदला कहते हैं सारे युग का भ्रष्टाचार वही है बेचे श्रम को तन भी बिकत...

डॉ कल्याणी कबीर की कविता

ये भी सच है कि कविताएँ रोटी नहीं देती माना कि कविता जीने का आधार नहीं है हर किसी को मिल जाए वो पुरस्कार नहीं है , ये भी सच है कि कविताएँ रोटी नहीं देती , जहा...

अनामिका की प्रथम कृति “अनामिका” का विधिवत लोकार्पण

अनामिका की प्रथम कृति "अनामिका" का विधिवत लोकार्पण हुआ। राष्ट्रीय कवि  सौरभ जैन सुमन ने  राष्ट्र संवाद को बताया कि अनूठा था ये विमोचन। न कोई नेता न कोई क...

आनंद मार्ग प्रचारक संघ की ओर से गदरा आनंद मार्ग आश्रम में 3 घंटे का” बाबा नाम केवलम”

आनंद मार्ग प्रचारक संघ की ओर से गदरा आनंद मार्ग आश्रम में 3 घंटे का" बाबा नाम केवलम" अखंड कीर्तन नारायण सेवा जरूरतमंदों के बीच वस्त्र वितरण किया गया आनं...

बोते रहे गुलाब हम सपनों में उम्र -भर ~ दिनेश्वर प्रसाद सिंह, “दिनेश”

बोते रहे गुलाब हम सपनों में उम्र -भर ~ दिनेश्वर प्रसाद सिंह, "दिनेश" डॉ कल्याणी कबीर "काँटों की बदतमीजी मालूम थी लेकिन , बोते रहे गुलाब हम सपनों में उम्र -- भ...

मेरी पहचान :डॉक्टर कल्याणी कबीर

हिन्दी भाषा की कलम थामे उम्दा साहित्य का सृजन करने में लगी प्रसिद्धसाहित्यकार ,रामधारी सिंह दिनकर के पद चिन्हों पर चलने वाली कवित्री शिक्षाविद , समाज से...

औरतों के दम से है

औरतों के दम से है शहर का तब्दील रहना शाद रहना और उदास रौनकें जितनी यहाँ पे हैं औरतों के दम से हैं !! सच ही है कि हम औरतों के बिना इस दुनिया की कल्पना नहीं ...