Home / breaking news
तेजप्रताप ने खुद को दूसरा लालू बताया, ससुर और राजद प्रत्याशी को वोट न देने की अपील की
Image

जहानाबाद: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप ने खुद को दूसरा लालू बताया। जहानाबाद में अपनी पार्टी राजद के प्रत्याशी के खिलाफ प्रचार करने पहुंचे तेजप्रताप ने भाई तेजस्वी पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि लालू यादव काफी ऊर्जवाना हैं। वे एक दिन में 10 से 12 कार्यक्रमों में शामिल होते थे। आज के नेता दो से चार कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद बीमार पड़ जाते हैं। दरअसल, तेजस्वी ने पिछले दिनों तबीयत ठीक नहीं होने की वजह से कई रैलियां रद्द कर दीं थीं।
तेजप्रताप ने कहा कि मुझमें लालू प्रसाद यादव का खून है। वे हमारे गुरु और प्रेरणास्रोत हैं। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी राजद ने चापलूसों को टिकट दिए। तेजप्रताप ने दावा किया कि जहानाबाद सीट से उनके प्रत्याशी चंद्र प्रकाश राजद पार्टी के उम्मीदवार सुरेंद्र यादव को एक लाख से ज्यादा वोटों से हराएंगे।
तेजप्रताप यादव सारण सीट से ससुर चंद्रिका राय को टिकट दिए जाने के खिलाफ थे। उन्होंने यहां से मां राबड़ी देवी या किसी अन्य को टिकट देने की मांग की थी। हालांकि, राजद ने तेजप्रताप की बात को दरकिनार दिया। इससे नाराज तेजप्रताप ने कहा था कि वे अपने ससुर के खिलाफ प्रचार करेंगे। शुक्रवार को उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट कर सारण से चुनाव लड़ रहे राय को वोट न देने की अपील की।
टिकट बंटवारे को लेकर है तल्खी
राजद में हुए सीटों के बंटवारे को लेकर लालू यादव के दोनों बेटों के बीच नाराजगी की खबरें सामने आ रहीं हैं। तेजप्रताप अपने समर्थकों के लिए जहानाबाद से चंद्रप्रकाश यादव और शिवहर से अंगेश सिंह के टिकट मांग रहे थे। तेजप्रताप की मांग पर पार्टी ने कोई विचार नहीं किया और दोनों जगह से दूसरे उम्मीदवार को टिकट दे दिया गया। इससे नाराज तेजप्रताप ने लालू-राबड़ी मोर्चा का गठन कर लिया। शिवहर से लालू-राबड़ी मोर्चा के उम्मीदवार अंगेश सिंह और जहानाबाद से चंद्रप्रकाश यादव ने पर्चा भरा। हालांकि, दस्तावेज अधूरा होने की वजह से अंगेश सिंह का नामांकन रद्द हो गया।