Home / breaking news
वित्तमंत्री निर्मला की चेतावनी, कर नहीं चुकाया तो बड़े नुकसान के लिए रहो तैयार
Image

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने करदाताओं को कड़ी चेतावनी देते हुए आज कहा कि उन्हें ईमानदारी से कर का भुगतान करना चाहिए वरना उन्हें कहीं अधिक नुकसान का सामना करना पड़ सकता है. श्रीमती सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में 2019-20 के बजट में कर संबंधी प्रावधानों की घोषणा से पहले ईमानदार करदताओं को धन्यवाद दिया और कहा कि उनके बहुमूल्य अंशदान के कारण ही सरकार देश के समावेशी और सर्वांगीण विकास के सामूहिक सपने को साकार करने में जुटी है.इसके तुरंत बाद उन्होंने तमिल कवि पिसिरेन्द्रयार की एक कविता यान्नै पुगुन्धा निलम” के जरिये करदाताओं को अपने आप करों का भुगतान करने की सलाह दी. उन्होंने कहा ,” ऐसी परिस्थिति में मुझे श्री पिसिरेन्द्रयार की एक तमिल संगम काल की पुरा नानरू नामक कृति की एक पंक्ति में बुद्धिमत्ता झलकती है. यान्नै पुगुन्धा निलम नामक कविता में राजा पांडियन अरिबुद्धे नाम्बि को सलाह दी गयी थी.इस तमिल कविता के कुछ छंद पढऩे के बाद उन्होंने कहा , इसका अर्थ यह है कि भूमि के एक छोटे से टुकड़े से प्राप्त धान की फसल से निकाले गये चावल के कुछ ढेर एक हाथी के लिए पर्याप्त होंगे. लेकिन यदि कोई हाथी धान के खेत में स्वयं घुसकर उसे खाना शुरू कर दे तब क्या होगा. वह जितना खाएगा उससे कहीं अधिक पैरों से कुचलकर बर्बाद कर देगा. वित्त मंत्री ने कहा कि इस कविता को पढऩे का उनका अभिप्राय कराधान को लेकर है कि करदाता स्वयं ही कर अदा करें, सरकार की मंशा किसी को नुकसान पहुंचाने की नहीं है.