Home / breaking news

May,22,2020 12:08:02

उपायुक्त ने पुलिस अधीक्षक को क्वारैंटाईन सेंटर पर पर्याप्त पुलिस बल उपलब्ध कराने का आग्रह किया
Image

■ *दिनांक 15.05.2020 को कोरोना वायरस (कोविड-19) के संदर्भ में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आहूत समीक्षात्मक बैठक में प्राप्त दिशा-निर्देश के संबंध में उपायुक्त जामताड़ा श्री गणेश कुमार (भा. प्र. से.) ने पुलिस अधीक्षक को क्वारैंटाईन सेंटर पर पर्याप्त पुलिस बल उपलब्ध कराने को कहा।*

■ *अपने क्षेत्रान्तर्गत दूसरे राज्यों से पैदल झारखण्ड में प्रवेश करने वाले अप्रवासियों को जिले के बार्डर पर ही रोका जाय एवं उन्हें संबंधित दण्डाधिकारी एवं जिला परिवहन पदाधिकारी, जामताड़ा से समन्वय स्थापित करते हुए बस/ गाड़ी द्वारा निकटतम स्थान पर स्थापित रिलीफ कैंप में आवासित कराते हुए उन्हें खाना पीना खिलाने के उपरांत वाहनों से गंतव्य तक भेजें*

उपायुक्त जामताड़ा श्री गणेश कुमार(भा.प्र.से.) ने कहा कि अप्रवासी श्रमिकों की अन्य राज्यों से जामताड़ा जिले में वापसी, उनकी सैम्पलिंग, जाॅंच, क्वारेंटाईन सेंटरों में उनकी सम्यक् व्यवस्था, नियोजन आदि के प्ररिप्रेक्ष्य में आने वाला समय काफी महत्वपूर्ण तथा चुनौतिपूर्ण रहने वाला है, बाहर राज्य से आने वाले श्रमिकों के जामताड़ा वापसी के क्रम में श्रमिकों को सरकारी क्वारैंटाईन सेंटर में रखा जाना है जिसके लिए उपायुक्त ने पुलिस अधीक्षक को निदेश दिया जो कि निम्नवत है :-
1. क्वारैंटाईन सेंटर में अपेक्षित संख्या में सुरक्षा बल की तैनाती के संबंध में आवश्यक कार्रवाई की जाय ताकि कोई भी व्यक्ति वहाॅं से भागे नहीं। अगर जिला में अपेक्षित संख्या में सुरक्षा बल उपलब्ध नहीं हो तो अतिरिक्त बल हेतु पुलिस मुख्यालय Requisition को भेजा जाय।
2. राज्य सरकार द्वारा निकट भविष्य में शराब की दुकानों को खोलने की दिशा में कार्रवाई की जा रही है। उक्त के संबंध में अधीक्षक, उत्पाद जामताड़ा को निर्देशित करते हुए जिला में उपलब्ध शराब की दुकानों की मैपिंग कर वहाॅं पर कम-से-कम 05 दिनों तक पुलिस बल की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाय ताकि ग्राहकों में सामाजिक दूरी के सिद्धांत के अनुपालन के साथ-साथ विधि-व्यवस्था का संधारण भी कराया जा सके।
3. सभी थाना प्रभारियों/ पुलिस पदाधिकारियों को निर्देशित किया जाय कि अपने क्षेत्रान्तर्गत दूसरे राज्यों से पैदल झारखण्ड में प्रवेश करने वाले अप्रवासियों को जिले के बार्डर पर ही रोका जाय एवं उन्हें संबंधित दण्डाधिकारी एवं जिला परिवहन पदाधिकारी, जामताड़ा से समन्वय स्थापित करते हुए बस/ गाड़ी द्वारा निकटतम स्थान पर स्थापित रिलीफ कैंप में आवासित कराया जाय। वहाॅं पर उनके लिए खाना/ पानी की व्यवस्था रखी जाय। तदोपरान्त उन्हें अपने गंतव्य तक पहुॅंचाने हेतु वाहन की व्यवस्था की जाय। दूसरे राज्यों के मामले में स्टेट नोडल आॅफिसर को संसूचित करने हेतु जिला स्तर पर गठित संबंधित स्टेट नोडल पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए आवश्यक कार्रवाई की जाय।
4. लाॅकडाउन में भी शहरी क्षेत्रों में गाड़ियों की बढ़ती संख्या एवं भीड़ को देखते हुए अनुरोध है कि इस संबंध में नियमित रूप से सघन जाॅंच कराई जाय ताकि लाॅकडाउन में निहित उद्देश्यों को सुनिश्चित कराया जा सके।

5. चेक पोस्ट समेत कतिपय स्थानों से पुलिस बलों द्वारा अप्रवासी श्रमिकों के साथ अनुचित तरीके से पेश आने की शिकायतें प्राप्त हुई हैं। इस संबंध में अनुरोध है कि वरीय पदाधिकारियों को इस संबंध में नजर रखने हेतु अवगत कराया जाय।

Latest Post